Aries

Rashifal 2017
आप सभी अपने कुंडली के बारे में विशेष जानकारी या अपने कुंडली के हिसाब से अपना राशिफल या अपने किसी भी समस्या का समाधान जानना चाहते हैं तो आप हमें कॉल या Whats App भी कर सकते हैं इस नंबर पर 09990080052

राशिफल 2017
मेष राशिफल जनवरी – मासारंभ से ता.19 तक मंगल-शुक्र योग लाभ स्थान में होने से आय के साधनों में वृद्धि के साथ-साथ खर्च भी अधिक होंगे|तथा ता. 11 के बाद किसी प्रियजन से मुलाकात परन्तु संतान पक्ष की तरप से कुछ चिंता बनी रहेगी| ता.20 से मंगल द्वादशस्थ होने से पारिवारिक एवं आर्थिक हालात में अनिश्चतता बना रहेगा| मासान्त में यात्रा का प्रोग्राम बनेगा| मंगलवार को गाय माता को गुड़ मिलाकर रोटी खिलाना लाभदायक होगा|

मेष राशिफल फ़रवरी – सर्विस एवं व्यवसाय में संगर्ष पूर्ण स्तिथि का सामना करना पर सकता है| कार्यों में विलम्ब होने से क्रोध एवं उत्तेजना बढ़ सकता है, मानसिक तनाव एवं उलझनें भी बढेंगी| नये योजना एवं विदेश यात्रा में विवाद हो सकता है| श्री सूक्त का पाठ करना विशेष लाभदायक होगा|

मेष राशिफल मार्च- कुछ रुके हुए जरुरी कार्यों में सफलता मिलेगा| उत्साह एवं व्यवसाय में वृद्धि होगी| धर्म-कर्म की ओर रूचि बढ़ेगी परन्तु क्रोध बढ़ेगी तथा वृथा भाग-दोड़ बना रहेगा| ता. 14 से स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानी, आँख, रक्त एवं पेट- विकार आदि से परेशानी के योग हैं| माता दुर्गा रानी के सप्तसती से सिद्ध कुंजिका स्त्रोत्र का पाठ करना शुभ होगा|

मेष राशिफल अप्रैल – मासारंभ में सूर्य के प्रभाव से संतान सम्बन्धी चिंता, बनते कार्यों में विघ्न एवं विलास आदि कार्यों पर खर्च अधिक रहेंगे, परन्तु मंगल स्वग्रही होने पराक्रम एवं परुषार्थ से कुछ बिगड़े कार्य बनेगें| ता. 13 से सूर्य इस राशी पर ( उच्चस्थ) संचार करने से शुभ फल प्राप्त होगा| ता. 13 से वैशाख महात्म्य का पाठ करना शुभ रहेगा|

मेष राशिफल मई – उच्च-प्रतिष्टित लोगों से से सम्बन्ध अच्छे होंगे, मान-प्रतिस्ठा में वृद्धि, तथा रुके हुए कार्य में प्रगति होगी, पंचम्स्थ राहू होने के कारण संतान सम्बन्धी कार्यों में विघ्न,परिवार में मतभेद एवं कलह के योग बनेगें| श्री सुन्दरकाण्ड का पाठ करने से समस्या में कमी होगा तथा लाभ मिलेगा|
मेष राशिफल जून- ता.20 तक भाई-बंधुओं से वैचारिक मतभेद, व्यवसाय-कार्य में संगर्ष पूर्ण हालात का सामना रहेगा| ता.21 से हालात में कुछ सुधार एवं गत किये गये परिश्रम का प्रतिफल मिलेगा, परन्तु ता.21 से पुनः शनि की ढैय्या के प्रभाव से खर्च एवं क्रोध अधिक रहेगा| आपको भी सुन्दरकाण्ड का पाठ तथा शनि देव का पूजन लाभकारी रहेगा|

मेष जुलाई राशिफल- संघर्षपूर्ण परिस्तिथियों के बावजूद धन-लाभ सामान्य रहेंगे,भाग-दोड़ और परिश्रम अधिक रहेगा ता.11 से घरेलु सुखों में कमी,आवास सम्बन्धी उलझनें माँ को स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानी और यात्रा पर खर्च भी अधिक होगा| हनुमान जी का पूजन अर्चना और सुन्दरकाण्ड का पाठ का अत्यंत लाभदायक रहेगा|

मेष राशिफल अगस्त – शनि की ढैय्या तथा मंगल नीचस्थ संचार करने से कठिन परिश्रम के बाद ही निर्वाह योग्य धन प्राप्त होगी| किन्तु धन का खर्च में अधिकता होगी|क्रोध एवं उत्तेज़ना के कारण दाम्पत्य जीवन में मन-मुटाव एवं वैमनस्य उत्पन्न होगा| भगवान श्री कृष्ण का पूजन एवं जन्मास्टमी का पूजन – व्रत अत्यंत लाभदायक होगा|

मेष राशिफल सितम्बर – इस महीने मिला-जुला प्रभाव रहेगा| निर्वाह योग्य आय के साधन बनते रहेंगे, पराक्रम एवं पुरुषार्थ से कुछ बिगड़े हुए कार्य बनेगे| स्त्री एवं संतान का सहयोग रहेगा|ता 12. से गुरु की दृष्टी पड़ने से स्वास्थ्य में सुधार एवं बिगड़े हुए कार्य बनेगें| परिवार में खुशी के अवसर बनेगे| ता 6. से 20. तक पितृपक्ष में पितरों को दान एवं पूजन जरूर करें|

मेष राशिफल अक्टूबर – गुरु की शुभ दृष्टी रहने से उत्साह एवं सोभाग्य में वृद्धि होगी एवं धनागमन के साधनों में भी बढोतरी होगी| जमीन-जायदाद आदि का क्रय-विक्रय हो सकते हैं, तथा ता.17 से रुके हुए कार्यों- आशाओं में सफलता तथा किसी नवीन कार्य में के योजनाओं को पूरा करने के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे| हनुमानजी जी का पुजन पाठ करना अत्यंत लाभदायक होगा | अगर हो सके तो हनुमान कवच का पाठ करें|

मेष राशिफल नवम्बर – व्यपार में उन्नति एवं व्यवसाय के विस्तार करने में मित्रो एवं संबंधियों का सहयोग मिलेगा| धर्म-कर्म में रूचि बढेगा,धार्मिक यात्राओं के योग प्रबल हैं|संतान सम्बन्धी समस्या का निवारण करने के लिए अच्छा समय है| हो सके तो माता रानी का नियमित पूजन-पाठ करें|

मेष राशिफल दिसम्बर- आशाओं के किंचित सफलता, धन-लाभ व उन्नति के असवर बनेंगे,ता.20 के पश्चात वृथा-यात्रा, स्थान-परिवर्तन,मानसिक तनाव एव अज्ञात भय बना रहेगा|किसी भी कार्य को करने से पहले सोच-समझ कर फैसला लें, सावधानीपूर्वक ही कोई भी कार्य करें|भगवान हनुमानजी का पूजन एवं श्री सुन्दरकाण्ड का पाठ करें|
मेष राशी पर ग्रह गोचर- मेष राशी पर शनि का ढैय्या का प्रभाव वर्षारंभ से 25 जनवरी., पुनः 21 जून से 25 अक्टूबर तक रहेगा| इस समयकाल में वृथा भाग-दोड़ एवं खर्च अधिक होगा| स्वास्थ्य सम्बन्धी कष्ट एवं घरेलू और व्यवसायिक उलझनें बढ़ेगी|ता.1 मार्च से 12 अप्रैल तक मंगल स्वराशिगत रहने से उत्साह एवं उर्जा में वृद्धि होगी|ता.26 मई से 20 जून तक शनि-मंगल के मध्य समसप्तक योग होने से समयाविधि में क्रोध और उत्तेज़ना से बचना होगा| वाहन भी सावधानीपूर्वक चलाएं दुर्घटना के योग हैं|