Taurus

Taurus(वृष) वृष राशिफल 2017 आप सभी अपने कुंडली के बारे में विशेष जानकारी या अपने कुंडली के हिसाब से अपना राशिफल या अपने किसी भी समस्या का समाधान जानना चाहते हैं तो आप हमें कॉल या Whats App भी कर सकते हैं इस नंबर पर 09990080052

वृष ग्रह गोचर – वृष राशी पर शनि की दृष्टि वर्षारंभ से 25 जनवरी तक, पुनः 21 जून से 25 अक्टूबर तक ,तथा शनि की ढैय्या का प्रभाव 26 जनवरी से 20 जून तक, पुनः 26 अक्टूबर से वर्षांत तक रहेगा| फलस्वरूप संघर्ष पूर्ण परिस्थितियां के मध्य गुजारे योग्य आय के साधन बनते रहेंगे तथा लाभ के प्राप्ति के अवसर प्राप्त होंगे| वर्षारंभ से 11 सितम्बर तक गुरु की शत्रु दृष्टि भी रहेगी| परन्तु इन सभी विपरीत परिस्थितियां के बावजूद 27 जनवरी से 30 मई तक राशिस्वामी शुक्र उच्चस्थ लाभ स्थान में होने से अकस्मात धनागमन एवं भाग्य उन्नति के अनेक स्थान प्राप्त होंगे|वर्ष भर तेल की कटोरी में छायापात्र कर तेल, गुड़ दान करना तथा उरद के दाल का दान करना और काली गाय को मीठी रोटी खिलाना लाभदायक रहेगा|

वृष राशिफल जनवरी- अकारण क्रोध, उत्तेज़ना एवं व्यर्थ की भाग दोड़ लगी रहेगी| वृथा यात्रा, शत्रु-भय, मानसिक तनाव, अवांछित स्थान परिवर्तन से परिवार में कलह-क्लेश बना रहेगा|मकर सक्रांति के ब्राह्मणों को यथाशक्ति दान तथा भागवत गीता का दान करना शुभ रहेगा| तिल के मिष्टान का दान करना भी अत्यंत लाभदायक रहेगा|

वृष राशिफल फ़रवरी- मान-समान्न एवं प्रतिस्ठा में वृद्धि होगी| व्यवसाय में अचानक लाभ प्राप्ति के अवसर प्राप्त होंगे| परन्तु शनि की ढैय्या के कारण कार्यों में व्यवधान एवं विलंब उत्पन्न होंगे| मानसिक तनाव एवं परिवार में कलह और मतभेद उत्पन्न होंगे|ता 24 को भगवान शिव का अधिक से अधिक पूजन महाशिवरात्रि के दिन करें|

वृष राशिफल मार्च- किसी से व्यर्थ झगडा या तनाव हो सकता है, मानसिक अनिश्चतता एवं गुप्त शत्रु हानि पहचानें का प्रयास कर सकते हैं| वृथा भाग-दोड़ अधिक रहेगी| स्वास्थ्य भी अधिक ढीला रहेगा, ता 28 से माँ दुर्गा का सप्तशती का पाठ करना अत्यंत शुभ रहेगा|किसी से बिना मतलब का बहस न करे नहीं तो मुसीबत का सामना करना पड़ सकता है| और स्त्री का विशेष सम्मान दे, स्त्री को अपमान करने से माता रानी आपसे नाराज हो जायेंगे| और स्त्री को भी चाहिए की वो अपने पति और पिता का समान्न करें तथा भगवान शिव का पूजन स्त्री के लिए विशेष उचित रहेगा|

वृष राशिफल अप्रैल- संघर्ष के बावजूद धन के साधन बनते रहेंगे| सोची योजनाओं में आंशिक सफलता मिलती रहेगी| स्त्री-सुख एवं परिवार में ख़ुशी के अवसर मिलेंगे| ता.13 से सूर्य द्वादशस्थ होने से धन का अपव्यय एवं कार्य विलम्ब होने से मन परेशान रहेगा| भगवान गणेश जी आराधना अच्छा रहेगा|

वृष राशिफल मई- स्वास्थ्य परेशानी, सिर दर्द, आँखों में कष्ट एवं सरकारी क्षेत्रों में विघ्नों का सामना रहेगा| परन्तु अकस्मात धनागमन, वाहनादि ,सुख-सुविधाओं, एवं मरोंजन आदि कार्यों पर धन का व्यय अधिक होगा| शुक्रवार का व्रत आरम्भ करना पुरे साल भर के लिए अत्यंत शुभकारी रहेगा|

वृष राशिफल जून- वृष राशी पर सूर्य का संचार तथा शुक्र 12 वें होने से दोड़-धुप अधिक रहेगी, तथा व्यवसाय में परेशानियां का सामना करना पड़ सकता है|आराम कम एवं संगर्ष अधिक रहेगा| स्वभाव में तेज़ी तथा क्रोध अधिक रहेगा| ॐ नाम का ध्यान करें और श्री सूक्त का पाठ करना अत्यंत लाभदायक रहेगा|

वृष राशिफल जुलाई- शुक्र स्वराशी गत होने से परिस्थितियां में परिवर्तन होंगे| शनि की दृष्टि होने से परिवार में कलह के योग हैं, तथा बनते हुए कार्यों में बाधा भी उत्पन्न हो सकता है| मानसिक तनाव एवं धन का अपव्यय अधिक होगा लेकिन धनागमन के योग भी बनते रहेंगे| विशेष कर शुक्र गयात्री मन्त्र का जाप करना शुभ रहेगा|

वृष राशिफल अगस्त- गुरु की विपरीत दृष्टी होने के बावजूद धन लाभ एवं धन के प्राप्ति के मार्ग प्रशस्त होंगें| स्वास्थ्य में समस्या उत्पन्न हो सकता है| स्थान परिवर्तन तथा यात्राओं पर धन का अनावश्यक खर्ष होगा| हाँ कार्य क्षेत्र तथा व्यपार में व्यस्तताएं बढेंगी| अगर आप इस माह शाकाहरी भोजन करते हैं और भगवान शिव का विशेष पूजन करते हैं तो आपके रुके हुए कार्य बनने के योग हैं|

वृष राशिफल सितम्बर- मानसिक-अनिश्चतता, मन अशांत एवं शत्रु हानि पहुचाने का प्रयाश करेंगे| शनि की दृष्टी होने से भी कार्य क्षेत्र तथा व्यापार में अत्यंत संगर्ष पूर्ण स्तिथि का सामना करना पड़ सकता है| परन्तु अकस्मात धन लाभ एवं कोई शुभ कार्य पुरे होने के भी योग बनेगें| गुप्त शत्रु आपको नुकसान पहुचाने का प्रयास कर सकते हैं| स्वास्थ्य में भी कुछ समस्या का सामना करना पड़ सकता है इसलिए बचाव के लिए माँ दुर्गा जी का दुर्गा कवच का पाठ करें|

वृष राशिफल अक्टूबर- मासारंभ में परिस्थितियां ठीक रहेंगीं| विशेष कर धनागमन के योग बनते हैं| परन्तु ता. 9 से राशी स्वामी शुक्र नीच राशी में होने से संगर्ष पूर्ण परिस्थितियां का सामना करना पड़ेगा| किसी बुरे विचार के लोगों के तरप से आपको कोई नुकसान पहुचाने का प्रयाश हो सकता है, इसलिए नीच प्रवृति के लोगों से दूर रहें| संतान सम्बन्धी चिंता एवं चोट आदि लगने का भी भय है| भगवान कार्तिक का पूजन करना लाभदायक होगा|

वृष राशिफल नवम्बर- सूर्य-शुक्र षष्ठस्थ तुला राशिगत संचार करने तथा शनि की ढैय्या के प्रभाव से प्रत्येक क्षेत्र में निर्वाह योग्य धन-लाभ संगर्ष के पश्चात ही प्राप्त होंगें| मानसिक तनाव, गुप्त परेशानियों के कारण चिंताजनक हालात बने रहेंगें| आदित्य-ह्रदय स्त्रोत्र का पाठ तथा भगवान शिव जी का पूजन करना अत्यंत लाभदायक होगा|

वृष राशिफल दिसम्बर- किसी विशिष्ट व्यक्ति के सहयोग से आपके बिगड़े हुए कार्य बनेगे| परिवार में शुभ मंगल कार्य भी सम्पन्न होंगें| अकस्मात धन लाभ होने के चांस भी हैं,परन्तु ढैय्या के प्रभाव, तथा ता. 15 से शुक्रास्त एवं अष्टमस्थ होने से स्वास्थ्य कष्ट, पेट विकार आदि के कारण परेशानियां उत्पन्न होने के योग हैं| शुक्रवार को कन्या पूजन करना लाभदायक होगा|